प्रद्युम्न मौर्य क्रिकेटर

प्रद्युम्न मौर्य ये हैं भविष्य के क्रिकेटर, इनके संघर्ष की कहानी

प्रद्युम्न मौर्य ये हैं भविष्य के क्रिकेटर, इनके संघर्ष की कहानी

  • आर्थिक हालात ऐसे कि नहीं खरीद सकता स्पोर्ट-किट
  • माता पिता खेती कर घर का गुजारा चलाते हैं,
ऐसा सिर्फ क्रिकेट का जुनून ही करा सकता है...
ऐसा सिर्फ क्रिकेट का जुनून ही करा सकता है…

प्रद्युम्न मौर्य क्रिकेटर हैं जो इन दिनों कड़ी मेहनत कर रहा है और जल्द ही इन्हें आप इंडियन टीम में भी देख सकते हैं। कई किलोमीटर से हर दिन आना, सुबह-शाम प्रैक्टिस करना और फिर साईकिल से कई किलोमीटर घर वापस जाना। हर दिन साल के बारह महीने इस रूटीन को फॉलो करना इतना आसान नहीं होता। लेकिन उत्तर प्रदेश के वाराणसी सीटी आयर गांव का लड़का इतनी कड़ी मेहनत कर रहा हैं। और ये सब इनके क्रिकेट का जुनून ही करा रहा है।  इनती कड़ी मेहनत भला हर दिन कोई कैसे कर सकता है। लेकिन प्रद्युम्न मौर्य कर रहा है

  • प्रद्युम्न मौर्य  आयर गांव का रहने वाला है  हर दिन आयर से बीएचयू और डीएवी कालेज  सिर्फ क्रिकेट सीखने के लिए आता हैं। आयर से बीएचयू और डीएवी कालेज तक पहुंचने का सफर ही इनका थका देने वाला होता है। उसके बाद आकर सुबह-शाम दो सेशन प्रैक्टिस करना इतना आसान नहीं होता है। और उसके बाद फिर से उतना ही सफर करके कभी रात में  8 बजे कभी 9 बजे घर पहुंचना होता है।  आयर गांव  गांव से बीएचयू और डीएवी कालेज   करीब 40 किलोमीटर दूर पड़ता है। फिर वहां से साईकिल  लेकर कबीर स्पोर्ट्स क्लब  पहुँचता हैं। सुबह 7.30 बजे प्रद्युम्न मौर्य हर दिन स्टेडियम पहुंच जाता हैं। सुबह से दोपहर तक सेशन लेता हैं। और फिर शाम को प्रैक्टिस सेशन में हिस्सा लेता हैं। और फिर वापस साईकिल से उतना ही सफर
    करता हैं। सुबह 6 बजे से चलकर रात को 10 बजे घर पहुंचना हर दिन का ये रुटीम फॉलो करना इतना आसान नहीं होता है। जो प्रद्युम्न मौर्य कर रहा है

मुझे नहीं लगती थकान मुझे तो बस भारतीय टीम से खेलना है

प्रद्युम्न मौर्य  कहता हैं कि इस सफर में मुझे कोई थकान नहीं लगती। मैदान पहुंचते ही मेरी पूरी थकान दूर हो जाती है। मुझे तो बस क्रिकेट पसंद है। मुझे तो टीम इंडिया से खेलना है। उसके लिए फिर चाहे जितनी मेहनत करनी पड़े।



बचपन से बस क्रिकेट खेलना था




खेल की ऐसी प्रतिभा के पंख तभी लग सकते हैं, जब खेलप्रेमी दानदाता आकर ऐसी नैसर्गिक प्रतिभा को उचित संरक्षण एवं संबलन प्रदान करे।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top